मुख्यालय से बाहर पेंशन अदालतों का आयोजन
पेंशन अदालत नियंत्रक संचार लेखा उत्तर प्रदेश (पश्चिम) के कार्यालय में नियमित अंतराल पर आयोजित की जाती है | यह पेंशनरों एवं पेंशन प्रधिकृत करने वाले प्राधिकारी के बीच एक अंतरफलक के रूप में काम करता है | यह सरकार की नई पहल के बारे में पेंशनरो को शिक्षित करने में मदद करता है एवं पेंशनरों कि शिकायतों को निपटानें से सी. सी. ऐ. कार्यालय के लिए यह कुछ सिखने का अनुभव प्रदान करता है |

पूर्व में सामान्य प्रक्रिया के तहत “पेंशन अदालत” को एक स्थान पर, सारे उत्तर प्रदेश (पश्चिम) परिमंडल के लिए आयोजित करने सम्बंधी विज्ञापन समाचार पत्रो में दिया जाता था | हाँलाकि यह पेंशनरो (वरिष्ठ नागरिक) के हिस्से में यात्राभ्रमण और उसके एवज में अपने खर्च पर यात्रा करना शामिल था | इसके अलावा दूसरे अनभिज्ञ पेंशनरों से कोई प्रतिक्रिया प्राप्त नही होती थी | मुख्यालय से बाहर

“पेंशन अदालत ” आयोजित करने कि अवधारणा को उत्तर प्रदेश (पश्चिम) के मुरादाबाद एस.एस.ए में पहली बार प्रयोग किया गया | इस एस.एस.ए में २०० से अधिक पेंशनभोगियों को एस. एस. ए के अनुसार वर्गीकृत कि गयी पेंशनभोगियों की सूची से पेंशनरो को अलग-अलग किया गया एंव बारी आने पर वहां अदालत का आयोजन किया गया जहां के लिए पत्र जारी किये गए थे । १९ पेंशनर अपनी शिकायतों के साथ आये जो या तो दूर कर दी गई या इस कार्यालय द्वारा उन पर सक्रिय रूप से ध्यान देकर निपटाने का कार्य / प्रयास किया जा रहा है। पेंशनरों का व्यक्तिगत ध्यान रखने से वे बहुत प्रसन्न थे और उन्होंने सराहना कि की उनके विभाग तक पहुचने की बजाये विभाग उन तक पहुंचा ।

आधार कार्ड नंबर जैसे जानकारी, पेंशनभोगी के मोबाइल नंबर इत्यादि को आसानी से भविष्य में उपयोग के लिए एकत्र किया जाता है |
1.  मुरादाबाद, दिनाँक 28.05.2015
2.  बरेली, दिनाँक 16.07.2015
3.  फिरोजाबाद, दिनाँक 16.10.2015
Copyright © Reserved for CCA UP West.Disclaimer